जम्मू-कश्मीर में PDP के साथ गठबंधन पर बोले प्रधानमंत्री मोदी, ‘यह हमारी महामिलावट थी’

news aap tak

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘हिन्दुस्तान’ को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा कि बीजेपी का जम्मू-कश्मीर में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) सरकार के साथ गठबंधन कर सरकार बनाना हमारी ‘महामिलावट’ थी। उन्होंने कहा कि 2014 के विधानसभा चुनाव में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला था। हम सोच रहे थे कि नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी मिलकर कुछ करेंगे।

क्या आपको नहीं लगता है कि महबूबा मुफ्ती के साथ सरकार बनाना सही फैसला नहीं था? इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि चुनाव नतीजे आए तो किसी को पूर्ण बहुमत मिला नहीं था। हम सोच रहे थे कि नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी मिलकर कुछ करेंगे। हमारे पास ‘नंबर’ नहीं था। कई महीने राज्यपाल शासन रहा। उस समय मुफ्ती मोहम्मद सईद जीवित थे। उनसे वहां के लोगों की बात हुई। हमने खुलेआम कहा कि हम दो ध्रुव हैं। एक तरह से यह गठबंधन हमारी महामिलावट थी। क्योंकि लोकतांत्रिक मजबूरी में सरकार देनी थी, तो हमने न्यूनतम कार्यक्रम के साथ काम शुरू किया। मुफ्ती साहब अनुभवी थे उन्हें कोई दिक्कत नहीं आई।

मुफ्ती साहब के जाने के बाद महबूबा के सामने पार्टी के अलावा अन्य दिक्कतें थीं। कई दिनों तक वह जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं थीं। बहुत देर में उन्होंने जिम्मेदारी ली। राज्यपाल शासन आया, फिर सरकार बनी, सरकार चली। हमारा कहना था कि स्थानीय चुनाव कराए जाएं, लेकिन वो तैयार नहीं थीं। कहती थीं कि खूनखराबा हो जाएगा। जब उन्होंने चुनाव नहीं कराए तो हमने छोड़ दिया। हमने विकास पर ध्यान दिया, कोशिश की। हमने पहले ही कहा कि आज जो महामिलावट दिख रही है वह भी हमारी महामिलावट थी और उससे जो राजनीतिक नुकसान होना था वह हो गया।

जम्मू-कश्मीर की 87 विधानसभा सीटों में से पीडीपी ने सबसे ज्यादा 28 सीटों पर जीत हासिल की थी। बीजेपी ने 25, नेशनल कॉन्फ्रेंस ने 15 और कांग्रेस ने 12 सीटों पर जीत हासिल की थी। चुनाव के तीन महीने बाद बीजेपी और मुफ्ती मोहम्मद सईद के नेतृत्व वाली पीडीपी सरकार ने एक मार्च 2015 को शपथ ली। इसके बाद मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन के बाद उनकी बेटी महबूबा मुफ्ती ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

LEAVE A REPLY