जब महल के बाहर खड़े मित्र सुदामा से मिलने भगवान नंगे पांव दौड़े चले आए

news aap tak

सतहरिया| मुंगराबादशाहपुर के शक्ति पीठ मां काली जी मंदिर में वृंदावन धाम से आए कथावाचक स्वामी अंकिता नंद महराज ने कथा के विश्राम दिवस पर कहा कि पुराणों में श्री मद भागवत पुराण महापुराण है।यह अठ्ठारह पुराणों में उसका मुकुट है। उन्होंने श्रीमद् भागवत कथा श्रवण के महत्त्व को समझाया। कहा कि कई जन्म जन्मांतर के पुन्य कर्मों के फल से श्रीमद भागवत कथा सुनने का अवसर मिलता है।

जो जायसवाल परिवार को मिला है। सिर्फ इसी पुराण श्रवण से मोक्ष प्राप्ति का फल मिलने में प्रमुख साधन है। संत ने सुदामा चरित्र और भगवान श्रीकृष्ण से मित्रता प्रसंग पर विस्तार से प्रकाश डाला। कहा कि भक्ति के आगे भगवान को झुकना पड़ा। यही भगवान का स्वभाव है। पत्नी सुशीला के कहने पर विपिन्न ब्राह्रमण सुदामा भगवान श्रीकृष्ण से मिलने द्धारिकाधीश के लिए प्रस्थान किया। अटूट मित्रता के साथ भगवान के प्रति भावभक्ति का फल रहा कि श्रीकृष्ण ने रास्ते में पड़े नदी को केवट का रुप धारण करके उन्हें निंद्रा अवस्था में लाकर पार कराकर द्धारिकाधीश पहुंचा दिया। उन्होंने कहा कि भाव भक्ति के साथ प्रभू को याद करने पर भक्तो की सहायता के लिए भगवान उसके पास हमेशा खड़े रहते हैं।

 

स्वामी जी ने कहा कि द्धारपालों से सूचना मिलते ही दया के सागर करुणा निधान श्रीकृष्ण नंगे पांव सुदामा से मिलने महल के बाहर आ गए। और उन्हें गले से लगा लिया। मित्र सुदामा को अपने सिंहासन पर ले जाकर बैठाया।जल से नहीं अपने नेत्रों के आंसुओं से उनका पांव धोया। और भाभी सुशीला का कुशल झेम पूछा।पोटरी में बंधे तंदुल को बड़े चाव से भोग लगाया।संत ने कहा कि अर्जुन के साथ बहन सुभद्रा की शादी में आयोजित राजसी यज्ञ में भगवान श्रीकृष्ण ने पत्तल वगैरह उठाने सरीखे सेवा भाव का काम लिया था।

संत जी अंत में श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ सप्ताह के महत्त्व को बतलाया। संत जी तथा उनके सहयोगियों को मुख्य यजमान विमला जायसवाल के संग आयोजक मंडल ने अंगवस्त्रम से सम्मानित कर उनकी विदाई किया। मनोज जायसवाल,अनिल कुमार, सुनील कुमार, सुशील कुमार, कृष्णा,ऊषा, संध्या, ममता सहित परिजनों ने संत जी के चरणों का आर्शीवाद लिया। चेयरमैन शिवगोविंद साहू सहित श्रद्धालुओं ने संत को माल्यार्पण कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया।संचालन कृष्णा गोपाल जायसवाल ने किया|

LEAVE A REPLY